आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना क्या है | Government New schemes इस का लाभ कैसे ले Atmanirbhar Bharat Yojana in hindi 2021

Date :- 4 months ago

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on pinterest
Share on telegram
देखे इस पोस्ट में क्या है ? देखे

Pradhanmantri Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana Registration in hindi 2021 | प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना पंजीकरण कैसे करे हिंदी में 2021

What is atmanirbhar bharat rozgar yojana : हेल्लो दोस्तो आज हम आपको एक और योजना के बारे मे बताएंगे जो अर्थव्यवस्था को सुधारने में महत्वपूर्ण भूमिका होगी तो आइए जानते है दिनांक 12 नवंबर 2020 को हमारे देश की वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण जी ने देश मे बेरोजगार बैठे युवाओं को रोजगार के नए अवसर प्रदान करने के लिए  आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना  ।Atmanirbhar Bharat yojana epfo Registration in hindi 2021 को चालु किया

हम आपको बता दे की इस योजना के तहत देश के  अर्थव्यवस्था को सुधारने में काफी मदद मिलेगी और जो युवा देश मे बेरोजगार बैठे है । उनकी काफी मदद होगी । तथा इस योजना को 30 जून 2021 तक कार्यरत रहेगी । जैसे की आप सब जानते ही है की बिते वर्ष 2019 में प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना को भी आरंभ किया गया था । जो की देश मे बेरोजगार बैठे युवाओं को रोजगार के नए अवसर प्रदान कर सके इस पुरे देश मे सरकार समय – समय पर रोजगार के नए अवसर प्रदान करती है ।
https://pmmodiyojana.in/atmanirbhar-bharat-rozgar-yojana/

NOTE : इस योजना के अंदर इनके  सभी लाभार्थियों को रोजगार देने के लिए काफी कार्य किए जाएंगे जितने भी संगठित क्षेत्र के कर्मचारि है उन सबको रोजगार देने के लिए प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को आरंभ किया गया है । इस योजना के तहत बेरोजगार लोगो को काफी मदद मिलेगी । इस योजना के लाभ सभी को दिया जयेगा अगर आप इस योजना के बारे मे अधिक जानना चाहते है हमारे इस पोस्ट को लास्ट तक जरुर पधे और अगर अच्छा लगे तो अपने दोस्तो को भी भेजे ।

Press Conference by Union Finance Minister Nirmala Sitharaman

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को मार्च 2022 तक बढ़ाया जा सकता है Atmanirbhar Bharat Yojana

कोरोना वायरस महामारी का संकट अभी भी देश मे है यह आप सब भी जानते है इस कोरोना वायरस  के वजह से देश मे लगभग  2.53 करोड़ लोगो ने अपनी रोजगार को खो चुके है । अपनी रोजगार खोने के बाद वह सब बहुत ही परेशानियो का सामना कर रहे है । जैसे की एक रेपोर्ट के अनुसार केवल मई के माह में ही 1.5 करोड़ से ज्यादा लोगों के रोजगार खतम हो गये है । ऐसे मे हमारा देश इस कोरोना वायरस के चलते कई साल पिछे चला गया है । इन्ही सब परेशानियो को मद्दे नजर रख कर सरकार यह तय की है। की अब से जितने भी लोगो ने

अपनी रोजगार खोये है उन्हे एक नई रोजगार दिया जाये और जो पहले से बेरोजगार है उन्हे भी रोजगार मिले इसी को देखते हुए सरकार ने आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana 2021 का आरंभ किया है ।  इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा 2 सालों के लिए कर्मचारी एवं नियुक्ता का प्रोविडेंट फंड कंट्रीब्यूशन जमा किया जाएगा।

जिसमें बेसिक सैलेरी एवं देअर्नेस एलाउंस का 12 फ़ीसदी वाला एंपलॉयर कंट्रीब्यूशन एवं एम्पलाई कंट्रीब्यूशन सरकार द्वारा जमा किया जाएगा इस योजना के माध्यम से सरकार का 58.5 लाख रोजगार सृजन करने का उद्देश्य दिया  है।  आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना : Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana को   1 अक्टूबर 2020 से कर्यरत  किया जा रहा है।  इस योजना की डेडलाइन 30 जून 2021 को समाप्त हो रही है। लेकिन इस डेडलाइन को सरकार द्वारा मार्च 2022 तक बढ़ाया जा सकता है।

Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana : आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत 21 लाख कर्मचारियों  को नए रोजगार प्राप्त हुए ।

हम आपको यह भी बता दे की इस योजना के अंतगर्त अब तक 22810 करोड़ रुपए का खर्च हो गया है । जिससे कि 21 लाख नए कर्मचारियों को रोजगार दिया गया है । और हम आपको यह भी बता दे की इस योजना का लाभ सिर्फ वही लोग उठा सकते है जिनकी मासिक आय ₹15000 से कम है । और वह 1 अक्टूबर 2020 से पहले किसी ऐसे संस्थान में काम नहीं कर रहे थे जो की EPFO के साथ रजिस्टर्ड है।

इन सबके बाद कर्मचारियों के पास UAN नंबर होनी चाहिए  ।  अगर किसी कर्मचारी की सैलरी ₹15000 से कम है एवं वह EPFO  का मेंबर है तो उसे इस योजना का लाभ तभी दिया   जाएगा जब उसकी 1 मई 2020 से 30 सितंबर 2020 के बीच नौकरी गई हो। इस बिच के दौरान कर्मचारी किसी ऐसी कंपनी से जुड़ा नहीं होना चाहिए जो EPFO के साथ रजिस्टर है। अगर कर्मचारि इन सबसे वंचित है तो वह आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का लाभ नही ले सकता । 

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के महत्वपूर्ण बिंदु : Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana
इस योजना का क्या  नाम है । आत्मनिर्भर भारत रोजगार
इस योजना का प्रकारकेंद्र सरकार
इस योजना  को किसके द्वारा आरम्भ किया गया निर्मला सीतारमण
इस योजना के आरम्भ करने की तिथि12-11-2020
इस योजना की अवधि कितनी है ।2 वर्ष
इस योजना  का उद्देश्य क्या है । रोजगार के नए अवसर प्रदान करना
इस योजना  के लाभार्थी कौन है नए कर्मचारी
आधिकारिक वेबसाइटhttps://www.epfindia.gov.in/site_en/index.php
 
आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना आलेख : Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana :

हम आपको यह भी बता दे की श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने 18 फरवरी 2021 को निती निर्माण जितने भी  आंकडे थे उन पर जोर देते हुए इस काम को आसानी करने के लिये जितने भी प्रवासी एवं घरेलू श्रमिकों सहित पांच अखिल भारतीय आलेख को मद्दे नजर रखते हुए इन सबके लिए सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन लॉन्च करने को  कहा  है।

श्रम मंत्री द्वारा सर्वेक्षण के लिए दिशा निर्देश एवं प्रश्नावली भी प्रदान कि गई है। और हम आपको बताते चले की सटीक आंकड़ों के आधार पर सरकार द्वारा लगातार  विभिन्न योजनाएं बनाई जाती हैं। अगर सरकार के पास सही जानकारी नही होगी तो सरकार सही योजना नही बना पयेगी । सरकार के द्वारा सबसे पहले सही डाटा को को कलेक्ट  कर के फिर उस डाटा के हिसाब से इस योजना को आगे तक चलाई जायेगी । श्रम मंत्रालय द्वारा पांच सर्वक्षण किए जाएंगे जो कि कुछ इस प्रकार है।

  1. ऑल इंडिया सर्वे ऑन माइग्रेंट वर्कर्स ।
  2. ऑल इंडिया सर्वे ऑन डॉमेस्टिक वर्कर्स ।
  3. ऑल इंडिया सर्वे ऑन इंप्लॉयमेंट जेनरेटेड बाय प्रोफेशनल ।
  4. ऑल इंडिया सर्वे ऑन इंप्लॉयमेंट जेनरेटेड इन ट्रांसपोर्ट सेक्टर ।
  5. ऑल इंडिया क्वार्टरली establishment बेस्ड एम्प्लॉयलेंट सर्वे ।

इन सब सर्वक्षण  के हिसाब से सरकार यह भी जानने की कोशिश करेगी की क्या यह योजनाएं सही तरीके से काम कर रही है या नही ।  सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana 2021 को  आरंभ की  थी।  जिसके अंतर्गत सरकार ने 25000 करोड रुपए का 2 साल के लिए बजट निर्धारित किया था। इस योजना के माध्यम से लगभग 54 लाख नए कर्मचारियों को रोजगार  दिया जाएगा। इन सब सर्वे के माध्यम से आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना की   समीक्षा की जा सकेगी और यह पता लगाया जा सकेगा कि क्या यह योजना सही से कार्य कर रही है या नही इन इन सब सर्वे का रिजल्ट कम से कम  7 से 8 महीने में आ जाएगा।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना से 16.5 लाख लाभार्थियों को मिला लाभ : Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana

इस योजना को कोरोना संक्रमण के दौरान हुई रोजगार के नुकसान की भरपाई करने के लिए आरंभ की गई है। जिसके चलते जिनका रोजगार छुट गया उन्हे रोजगार दिया जा सके । इस योजना के अंतर्गत नई नियुक्ति पर 2 साल तक सरकार द्वारा कर्मचारी भविष्य निधि का योगदान किया जाएगा। यह योगदान वेतन का 12%–12% होगा। इस योजना के माध्यम से नियोक्ता रोजगार सृजित करने के लिए प्रोत्साहित होंगे। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना तहत पुरे देश मे अब तक 16.5 लाख लोगो को लाभ मिल चुका है । यह जानकारी श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने  17 मार्च 2021 को राज्यसभा में दी थी । इस योजना को रत रोजगार योजना को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के माध्यम से कार्यान्वित किया जाएगा।

इसके अलावा अप्रैल से दिसंबर 2020 के दौरान कर्मचारी भविष्य निधि योजना में 9.27 लाख महिलाएं, नई पेंशन योजना में 1.13 लाख तथा कर्मचारी राज्य बीमा योजना में 2.03 लाख महिला कर्मचारी जुड़ी है।इसके अलावा श्रम मंत्री द्वारा यह भी बताया गया कि पीएमजीकेवाई योजना के अंतर्गत 38.82 लाख कर्मचारियों के ईपीएफ खाते में 2567.66 करोड़ रुपए जमा किए गए हैं।

केंद्रीय मंत्रिमंडल से मिली मंजूरी आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को

हम आपको बता दे की  आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को कंपनियों को नियुक्तियां करने के लिए और  प्रोत्साहित करने के लिए आरंभ किया गया था। और  आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना  के  अंतर्गत सरकार द्वारा 2 साल तक कंपनियों और अन्य इकाइयों जितने भी नई भर्तिया हुई है जिसके   लिए ईपीएफ में कर्मचारी तथा नियुक्त दोनों का अंशदान सरकार द्वारा किया जाएगा। और आपको यह भी बता दे की  आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना   के अंतर्गत केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 1585 करोड़ रुपए की मौजूदा वित्त वर्ष के लिए मंजूरी दे दी  है । और इस मौजूदा वित्त वर्ष के लिए मंजूरी से लगभग 58.5 लाख कर्मचारियों को फायदा होगा ।

10 लाख नौकरियों पा सकते है । आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना

इस कदम से जिन लोगों की लॉकडॉउन के कारण नौकरी गई थी उन्हें जल्द से जल्द नौकरी प्राप्त हो जाएगी। यह भी संभावना लगाई जा रही है कि साल की शुरुआत में अर्थ व्यवस्था ठीक नहीं थी । लेकिन साल के अंत में अर्थवयवस्था बेहतर होने की उम्मीद है।  

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना  Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana  मे जितने भी कंपनियां जिन्होने कोरोना के काल मे नौकरी से निकाले गए  मजदुरो को अगर वह दुबारा नौकरी पर रखती है तो सरकार के तरफ से उन्हे 12% से लेकर 24% तक की  ईपीएफओ के  द्वारा वेतन सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

सरकार ने कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के माध्यम से अगले 2 साल में 10 लाख नौकरियां पैदा करने का लक्ष्य जारी किया है  और इस योजना को जारी करने का मे कुल  ₹6000 करोड़ रुपए का खर्च  होगा । जिससे की सभी  कर्मचारियों को काफी लाभ मिलेगा । हमे यह भी पता चला है की अब तक लगभग 20 या फिर उससे अधिक श्रमिकों वाली 5 लाख कंपनियां ईपीएफओ ने पंजीकरण कर चुकी है।

इस हिसाब से अगर कंपनी ने दो कर्मचारियों को नौकरी  दी तो कुल 10 लाख नौकरियों हो जायेगा । यह सरकार के तरफ से बहुत ही अच्छी कदम साबित होगी । कई सारे सेक्टरों में मांग बढ़ रही है। जिससे यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि नौकरी गंवाने वाले कर्मचारियों को जल्द से जल्द नौकरी वापस प्राप्त हो जाएगी।

इस योजना के तहत जीनकी भी  नौकरी लॉकडॉउन मे गई है उन्हे जल्द से जल्द  नौकरी मिल जयेगी ऐसे मे सरकार ने कहा की कोई भी  कर्मचारि परेशान ना हो सबको  नौकरी वापस मिल जयेगी । हम सब यह उम्मीद कर सकते है की   साल की शुरुआत में अर्थ व्यवस्था ठीक नहीं थी लेकिन साल के अंत में अर्थवयवस्था बेहतर हो सकती है ।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के लाभार्थी कौन कौन है (कर्मचारी) Pradhan mantri Aatmanirbhar bharat rozgar yojana

जिन कर्मचारियों के वेतन 15,000 से कम हैं और 1 अक्टूबर, 2020 से पहले पंजीकृत ईपीएफओ प्रतिष्ठान में नियुक्त नहीं किए जाते हैं और उनके पास 2020 से पहले एक सार्वभौमिक खाता संख्या या ईपीएफ सदस्य खाता संख्या 1 नहीं है।


जिन कर्मचारियों के पास सार्वभौमिक खाता संख्या है और उन्हें 15000 से कम का वेतन मिलता है। कोरोनैयर संक्रमण के कारण 1 मार्च, 2020 से 30 सितंबर 2020 के बीच किसका काम गायब है और प्रत्येक ईपीएफ पंजीकृत प्रतिष्ठान में 30 सितंबर 2020 से पहले नियुक्त नहीं किया गया है।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana का लाभ कैसे पाये क्या करे ।
  1. इस प्रणाली के तहत, कर्मचारी और संस्थान को केवल प्रदान किए जाएंगे।
  2. यदि ईपीएफओ के तहत प्रतिष्ठान पंजीकृत है तो नए रोजगार के अवसर प्रदान करते हैं, ये संस्थान इस प्रणाली से लाभ प्राप्त करने में सक्षम होंगे।
  3. ऐसे संस्थान जिनके कर्मचारी 50 वर्ष से कम उम्र के हैं और संस्थान भविष्य निधि में दो या दो से अधिक कर्मचारियों के साथ रोजगार प्रदान करते हैं, योजना का लाभ एक ही समय में संस्थान और ‘कर्मचारी के लिए प्रदान किया जाएगा।
  4. इसी प्रकार, इन संस्थान जिनके कर्मचारी 50 से अधिक वर्षों से हैं, वे कम से कम 5 नए कर्मचारियों को नौकरी प्रदान करके ईपीएफओ के तहत पंजीकृत करना अनिवार्य हैं।
  5. जो कुछ भी संस्थानआत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, उन्हें ईपीएफओ के तहत पंजीकृत / दर्ज किया जाना चाहिए ताकि नए कर्मचारियों और संस्थानों को लाभ हो सके।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के अंतर्गत आगामी 2 वर्ष तक योजना के लाभ प्रदान करेगी Pradhan mantri Aatm nirbhar bharat rozgar yojana scheme

हमारी केंद्र सरकार इस कार्यक्रम के संदर्भ में अगले 2 वर्षों का लाभ रखेगी, यह जान लें कि भारतीय सरकार द्वारा किस प्रकार का लाभ प्रदान किया जाएगा

  1. जो संस्था 1000 से कम कर्मचारी को रख सकती उन संस्थाओ मे जितने भी कर्मचारी काम करेंगे उनके वेतन के हिसाब से कम से कम 12% तथा काम देने वाली संस्था के हिस्से का 12% जो कि कुल 24% हुआ केंद्र सरकार द्वारा भविष्य निधि ईपीएफओ के अंतर्गत जमा कराया जाएगा ।
  2. इसी प्रकार जिन संस्थाओं की कर्मचारी क्षमता 1000 से अधिक है तो इन संस्थाओं में कार्यरत कर्मचारियों के वेतन के अनुसार कर्मचारी के हिस्से का 12% ही केंद्र सरकार द्वारा भविष्य निधि में दये होगा

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के जरूरी दस्तावेज क्या है । Pradhan mantri aatmnirbhar bharat rozgar yojana

  • कर्मचारी को ईपीएफओ के अंदर अपना पंजीकरण कराना अवश्यक है ।
  • कर्मचारी के पास अपना आधार कार्ड होना अवश्यक है ।
  • कर्मचारी का वेतन राशी ₹15000 प्रति माह तक या उससे कम होना अवश्यक है ।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का ऑनलाइन आवेदन कैसे करे । Aatmanirbhar bharat rozgar yojana registration online

जो कर्मचारी इस योजना का लाभ लेना चाहते है वह सबसे पहले अपना पंजीकरण ईपीएफओ  के अंदर करा ले । पंजीकरण कराने के लिए नीचे दिए गये इन प्रक्रिया को फालो करे जो की इस प्रकार है ।

FOR EMPLOYERS

1.सबसे पहले आपको ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन Atmanirbhar Bharat Yojana

महत्वपूर्ण लिंक

  1. अधिकारीक वेबसाइट : epfindia.gov.in
  2. FOR EMPLOYERS : EMPLOYERS
  3. Login : user/login
  4. Register : user/register

1. अधिकारीक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने एक होम पेज खुल कर आएगा।
2. अब आपको ( MENU ) बार मे आपको सर्विसेस के टैब पर क्लिक करना होगा।
3. इसके बाद आपको EMPLOYERS के टैब पर क्लिक करना होगा।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन

4. अब आपको  Online Registration of Establishment  का लिंक दिखेगा उस लिंक पर आपको क्लिक करना होगा।
5. अगर आप पहले से ही अपना पंजीकरण करा लिये है तो आपको अपना User Id + Password+ Verification Code को फिल करके Login के बटन पर क्लिक करना होगा तब आप लागिन हो जायेंगे ।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन


6. अगर आप पहले से अपना पंजीकरण नही किये है तो आपको Left side मे एक (Sign Up) का बटन दिखेगा आपको उस पर क्लिक करना होगा ।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन
आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन

Contact Information
हेल्पलाइन नंबर 1800118005

FAQ

  1. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का हेल्पलाइन नंबर क्या है ।

    हेल्पलाइन नंबर 1800118005

  2. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का अधिकारीक वेबसाइट

    अधिकारीक वेबसाइट : epfindia.gov.in

  3. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के जरूरी दस्तावेज क्या है ।

    कर्मचारी को ईपीएफओ के अंदर अपना पंजीकरण कराना अवश्यक है ।
    कर्मचारी के पास अपना आधार कार्ड होना अवश्यक है ।
    कर्मचारी का वेतन राशी ₹15000 प्रति माह तक या उससे कम होना अवश्यक है ।

  4. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana का लाभ कैसे पाये क्या करे ।

    इस प्रणाली के तहत, कर्मचारी और संस्थान को केवल प्रदान किए जाएंगे।

    यदि ईपीएफओ के तहत प्रतिष्ठान पंजीकृत है तो नए रोजगार के अवसर प्रदान करते हैं, ये संस्थान इस प्रणाली से लाभ प्राप्त करने में सक्षम होंगे।

    ऐसे संस्थान जिनके कर्मचारी 50 वर्ष से कम उम्र के हैं और संस्थान भविष्य निधि में दो या दो से अधिक कर्मचारियों के साथ रोजगार प्रदान करते हैं, योजना का लाभ एक ही समय में संस्थान और ‘कर्मचारी के लिए प्रदान किया जाएगा।

    इसी प्रकार, इन संस्थान जिनके कर्मचारी 50 से अधिक वर्षों से हैं, वे कम से कम 5 नए कर्मचारियों को नौकरी प्रदान करके ईपीएफओ के तहत पंजीकृत करना अनिवार्य हैं।

    जो कुछ भी संस्थानआत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, उन्हें ईपीएफओ के तहत पंजीकृत / दर्ज किया जाना चाहिए ताकि नए कर्मचारियों और संस्थानों को लाभ हो सके।

  5. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के लाभार्थी कौन कौन है (कर्मचारी)

    जिन कर्मचारियों के वेतन 15,000 से कम हैं और 1 अक्टूबर, 2020 से पहले पंजीकृत ईपीएफओ प्रतिष्ठान में नियुक्त नहीं किए जाते हैं और उनके पास 2020 से पहले एक सार्वभौमिक खाता संख्या या ईपीएफ सदस्य खाता संख्या 1 नहीं है।

  6. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के श्रम मंत्रालय द्वारा पांच सर्वक्षण के नाम

    1.ऑल इंडिया सर्वे ऑन माइग्रेंट वर्कर्स ।
    2.ऑल इंडिया सर्वे ऑन डॉमेस्टिक वर्कर्स ।
    3.ऑल इंडिया सर्वे ऑन इंप्लॉयमेंट जेनरेटेड बाय प्रोफेशनल ।
    4.ऑल इंडिया सर्वे ऑन इंप्लॉयमेंट जेनरेटेड इन ट्रांसपोर्ट सेक्टर ।
    5.ऑल इंडिया क्वार्टरली establishment बेस्ड एम्प्लॉयलेंट सर्वे ।

  7. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का क्या  नाम है । 

    आत्मनिर्भर भारत रोजगार

  8. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को किसके द्वारा आरम्भ किया गया 

    निर्मला सीतारमण

  9. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के आरम्भ करने की तिथि

    12-11-2020

  10. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना की अवधि कितनी है ।

    2 वर्ष

  11. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का उद्देश्य क्या है । 

    रोजगार के नए अवसर प्रदान करना

  12. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के लाभार्थी कौन है

    नए कर्मचारी

यह भी पढ़ें  ↓

Ο जाने क्या है पैन कार्ड?कैसे प्राप्त करें सबसे आसान भाषा में  ⇒

Ο  How to Apply PM Free Silai Machine Yojana in Hindi  ⇒

Ο  What is Seva Bhoj Yojana ” Government New scheme in Hindi   

Ο Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana in hindi जाने जनधन योजना क्या है ⇒

Ο मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना ⇒

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़ें ↓

Latest Post