Rajat Sharma biography 2023 ( Aap Ki Adalat ) In Hindi | रजत शर्मा का जीवन परिचय

Date / May 5, 2023

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on pinterest
Share on telegram

हमारे लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए फ्री में ज्वाइन करे

देखे इस पोस्ट में क्या है ? देखे

रजत शर्मा : Rajat Sharma एक प्रसिद्ध भारतीय पत्रकार, टेलीविजन एंकर और मीडिया व्यक्तित्व हैं। उनका जन्म 18 फरवरी, 1957 को दिल्ली, भारत में एक पंजाबी परिवार में हुआ था। उन्हें लोकप्रिय हिंदी समाचार कार्यक्रम “आप की अदालत” के मेजबान के रूप में जाना जाता है, जो 1993 से प्रसारित है और भारत में सबसे लंबे समय तक चलने वाले टीवी शो में से एक है।

 

रजत शर्मा शार्ट बायोग्राफी :- Rajat Sharma Short Biography

नाम (Name)रजत शर्मा
जन्मदिन (Date of birth)18 फ़रवरी 1957
जन्म स्थान (Birth Place)सब्ज़ी मंडी , दिल्ली  
नागरिकता (citizenship)भारतीय
शिक्षा (Education)एम कॉम (M.Com)
धर्म (Religion)हिन्दू
भाषा ज्ञान (language knowledge)हिंदी, अंग्रेजी

रजत शर्मा की पूरी जीवनी :- Rajat Sharma Full Biography

प्रारंभिक जीवन और शिक्षा: Rajat Sharma Early Life and Education

रजत शर्मा का जन्म और पालन-पोषण दिल्ली में हुआ। उन्होंने दिल्ली के सनातन धर्म हाई स्कूल से अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की और दिल्ली विश्वविद्यालय से वाणिज्य स्नातक की डिग्री प्राप्त की। बाद में उन्होंने उसी विश्वविद्यालय से कानून की डिग्री हासिल की।

Rajat Sharma biography 2023

आजीविका: Rajat Sharma Career

रजत शर्मा ने अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद एक पत्रकार के रूप में अपना करियर शुरू किया। उन्होंने कई अखबारों और पत्रिकाओं के साथ काम किया, जिनमें ऑनलुकर पत्रिका और संडे ऑब्जर्वर शामिल हैं। 1986 में, वह इंडिया टुडे समूह में शामिल हो गए, जहाँ उन्होंने समाचार एंकर और संपादक के रूप में काम किया।

1992 में, रजत शर्मा ने अपनी खुद की प्रोडक्शन कंपनी, इंडिपेंडेंट न्यूज़ सर्विस (INS) लॉन्च की, और अपना खुद का टॉक शो “आप की अदालत” होस्ट करना शुरू किया। यह शो तुरंत ही हिट हो गया और आज भी सफलतापूर्वक चल रहा है। वर्षों से, रजत शर्मा ने शो में राजनेताओं, मशहूर हस्तियों और खिलाड़ियों सहित कई प्रमुख हस्तियों का साक्षात्कार लिया है।

“आप की अदालत” के अलावा, रजत शर्मा ने “जनता की अदालत,” “तर्कश,” और “तीखी बात” सहित अन्य लोकप्रिय टीवी शो की भी मेजबानी की है। वह इंडिया टीवी सहित विभिन्न समाचार चैनलों पर एक नियमित टिप्पणीकार और पैनलिस्ट भी रहे हैं, जिसका स्वामित्व उनकी अपनी कंपनी आईएनएस के पास है।

मीडिया में अपने काम के अलावा, रजत शर्मा कई सामाजिक और परोपकारी कारणों से भी जुड़े रहे हैं। वह इंडिया विजन फाउंडेशन के एक ट्रस्टी हैं, जो एक गैर-लाभकारी संगठन है जो वंचित बच्चों को शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने की दिशा में काम करता है।


पुरस्कार और सम्मान: Rajat Sharma Awards and Honours

रजत शर्मा को भारतीय पत्रकारिता और मीडिया उद्योग में उनके योगदान के लिए कई पुरस्कार और सम्मान प्राप्त हुए हैं। 2015 में, उन्हें भारत में तीसरे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। उन्हें इंडियन टेलीविज़न एकेडमी लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड और बिजनेस आइकॉन ऑफ द ईयर अवार्ड से भी सम्मानित किया गया है।


व्यक्तिगत जीवन: Rajat Sharma Personal Life

रजत शर्मा ने रितु धवन से शादी की है, जो इंडिया टीवी की प्रबंध निदेशक और सीईओ हैं। दंपति का एक बेटा है जिसका नाम शिवम शर्मा है।

रजत शर्मा की कुल संपत्ति : Rajat Sharma net worth

2021 तक, रजत शर्मा की कुल संपत्ति लगभग 30 मिलियन डॉलर आंकी गई है। यह मुख्य रूप से पत्रकारिता और मीडिया में उनके सफल करियर के कारण है, जहां वे इंडिया टीवी के संस्थापक और अध्यक्ष रहे हैं, जो भारत के प्रमुख समाचार चैनलों में से एक है। इसके अतिरिक्त, वह रजत शर्मा फाउंडेशन के माध्यम से विभिन्न परोपकारी गतिविधियों में भी शामिल रहे हैं, जिसने उनकी संपत्ति में और योगदान दिया है। कुल मिलाकर, रजत शर्मा की कुल संपत्ति वर्षों से एक पत्रकार, उद्यमी और परोपकारी के रूप में उनकी सफलता को दर्शाती है।


निष्कर्ष: Rajat Sharma Conclusion

रजत शर्मा एक सम्मानित और निपुण पत्रकार और मीडिया व्यक्तित्व हैं जिन्होंने भारतीय पत्रकारिता में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। वह अपने कठिन साक्षात्कारों और वस्तुनिष्ठ और निष्पक्ष रिपोर्टिंग के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के लिए जाने जाते हैं। उनका लंबा और शानदार करियर भारत और दुनिया भर में इच्छुक पत्रकारों और मीडिया पेशेवरों के लिए एक प्रेरणा है।

0 min

कैरियर का आरंभ: Rajat Sharma Early Career

पत्रकार बनने से पहले, रजत शर्मा के पास शीतल पेय बेचने और टाइपिस्ट के रूप में काम करने सहित कई छोटे-मोटे काम थे। हालाँकि, पत्रकारिता में उनकी हमेशा गहरी रुचि थी और उन्होंने अपने करियर की शुरुआत कॉलेज में रहते हुए दिल्ली स्थित प्रकाशन “ओनलुकर” के लिए लिखकर की थी।

इंडिया टुडे: Rajat Sharma India Today

रजत शर्मा 1986 में इंडिया टुडे से जुड़े और जल्द ही समाचार एंकर और संपादक के रूप में भारतीय टेलीविजन पर एक प्रसिद्ध चेहरा बन गए। वह उस टीम का हिस्सा थे जिसने इंडिया टुडे का अंग्रेजी समाचार चैनल लॉन्च किया, जो भारत में पहले 24 घंटे चलने वाले समाचार चैनलों में से एक था।

“आप की अदालत”: Rajat Sharma Aap Ki Adalat

रजत शर्मा ने 1993 में “आप की अदालत” लॉन्च की, और यह जल्दी ही भारत में सबसे लोकप्रिय टीवी शो में से एक बन गया। शो के प्रारूप, जिसमें रजत शर्मा मेहमानों की एक विस्तृत श्रृंखला के विषयों पर जिरह करते हैं, का भारत में अन्य टॉक शो द्वारा व्यापक रूप से अनुकरण किया गया है।

लोकोपकार: Rajat Sharma Philanthropy

रजत शर्मा मीडिया में अपने काम के अलावा विभिन्न सामाजिक और परोपकारी कार्यों में भी शामिल हैं। वह रजत शर्मा फाउंडेशन के संस्थापक हैं, जो वंचित बच्चों को शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने की दिशा में काम करता है। वह दिल्ली पुलिस फाउंडेशन और रोटरी क्लब सहित कई अन्य गैर-लाभकारी संगठनों से भी जुड़े हुए हैं।

विवाद: Rajat Sharma Controversies

रजत शर्मा अपने पूरे करियर में कई विवादों में रहे हैं। 2005 में, उन पर एक राजनेता को अनुकूल कवरेज देने के लिए रिश्वत लेने का आरोप लगाया गया, लेकिन उन्होंने आरोपों से इनकार किया। 2019 में, भारतीय आम चुनावों से पहले प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक साक्षात्कार आयोजित करने के लिए उनकी आलोचना की गई थी, जिसमें कुछ ने उन पर सत्तारूढ़ दल के पक्षपाती होने का आरोप लगाया था।

कुल मिलाकर, रजत शर्मा का जीवन और करियर सफलता और विवाद दोनों से चिह्नित रहा है, लेकिन वे भारतीय पत्रकारिता में सबसे सम्मानित और प्रभावशाली शख्सियतों में से एक हैं।

राजनीतिक जुड़ाव: Rajat Sharma Political affiliations

रजत शर्मा भारत में कई राजनेताओं और राजनीतिक दलों के करीबी माने जाते हैं। वह भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से जुड़े रहे हैं, जो वर्तमान में भारत में सत्तारूढ़ दल है, और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थक के रूप में जाना जाता है। हालांकि, उन्होंने किसी भी राजनीतिक दल के प्रति पक्षपात से इनकार किया है और यह सुनिश्चित किया है कि वह एक स्वतंत्र पत्रकार हैं।

Rajat Sharma biography 2023

अन्य टीवी शो: Rajat Sharma Other TV shows

“आप की अदालत” के अलावा, रजत शर्मा ने कई अन्य टीवी शो की मेजबानी की है, जिसमें “तर्कश” शो शामिल है, जो प्रसिद्ध हस्तियों के जीवन की खोज करता है, और “तीखी बात”, एक शो जो वर्तमान मामलों और राजनीति पर केंद्रित है। वह “बिग बॉस” और “इंडियाज गॉट टैलेंट” जैसे रियलिटी टीवी शो में जज के रूप में भी दिखाई दिए हैं।

पुस्तकें:Rajat Sharma Books

रजत शर्मा ने भारतीय राजनीति और समाज पर कई किताबें लिखी हैं। उनकी किताब “अमर सिंह: द फीनिक्स राइजेज फ्रॉम द एशेज” पूर्व राजनेता अमर सिंह की जीवनी है। उन्होंने भारतीय इतिहास पर किताबें भी लिखी हैं, जिनमें “इमरजेंसी के 100 दिन” और “हाउ मोदी वोन इट” शामिल हैं।

व्यक्तिगत जीवन: Rajat Sharma Personal life

रजत शर्मा एक निजी व्यक्ति के रूप में जाने जाते हैं और उन्होंने शायद ही कभी सार्वजनिक रूप से अपने निजी जीवन के बारे में बात की हो। उन्होंने रितु धवन से शादी की है, जो इंडिया टीवी की सीईओ हैं और उनका एक बेटा है जिसका नाम शिवम शर्मा है।

परंपरा: Rajat Sharma Legacy

भारतीय पत्रकारिता और मीडिया उद्योग में रजत शर्मा के योगदान को व्यापक रूप से मान्यता दी गई है। वह अपनी निष्पक्ष रिपोर्टिंग, जोरदार इंटरव्यू और सच्चाई के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के लिए जाने जाते हैं। उनका शो “आप की अदालत” भारतीय टीवी पत्रकारिता पर एक बड़ा प्रभाव रहा है और इसी तरह के कई अन्य शो को प्रेरित किया है। वह भारत और दुनिया भर में युवा पत्रकारों और मीडिया पेशेवरों के लिए प्रेरणा बने हुए हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न ?

  1. कौन हैं रजत शर्मा?

    रजत शर्मा एक प्रमुख भारतीय पत्रकार, टीवी एंकर और मीडिया व्यक्तित्व हैं। उन्हें लोकप्रिय टीवी शो “आप की अदालत” के मेजबान के रूप में जाना जाता है।

  2. “आप की अदालत” क्या है?

    “आप की अदालत” रजत शर्मा द्वारा होस्ट किया जाने वाला एक लोकप्रिय भारतीय टीवी शो है। इस शो में रजत शर्मा विभिन्न क्षेत्रों के हाई-प्रोफाइल मेहमानों से विभिन्न विषयों पर जिरह करते हैं।

  3. रजत शर्मा ने “आप की अदालत” कब शुरू की?

    रजत शर्मा ने 1993 में “आप की अदालत” लॉन्च की।

  4. रजत शर्मा ने और कौन से टीवी शो होस्ट किए हैं?

    “आप की अदालत” के अलावा, रजत शर्मा ने “तर्कश” और “तीखी बात” सहित कई अन्य टीवी शो की मेजबानी की है।

  5. रजत शर्मा ने कौन-कौन सी किताबें लिखी हैं?

    रजत शर्मा ने भारतीय राजनीति और समाज पर कई किताबें लिखी हैं, जिनमें “अमर सिंह: द फीनिक्स राइजेज फ्रॉम द एशेज,” “100 डेज ऑफ इमरजेंसी,” और “हाउ मोदी वोन इट” शामिल हैं।

  6. रजत शर्मा किन सामाजिक और परोपकारी कारणों से जुड़े हैं?

    रजत शर्मा कई गैर-लाभकारी संगठनों से जुड़े हैं, जिनमें रजत शर्मा फाउंडेशन शामिल है, जो वंचित बच्चों को शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने की दिशा में काम करता है, और दिल्ली पुलिस फाउंडेशन।

  7. क्या रजत शर्मा किसी राजनीतिक दल से जुड़े हैं?

    रजत शर्मा को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से जुड़ा माना जाता है, जो वर्तमान में भारत में सत्ताधारी पार्टी है। हालांकि, उन्होंने कहा है कि वह एक स्वतंत्र पत्रकार हैं और किसी भी राजनीतिक दल के प्रति पक्षपाती नहीं हैं।

  8. क्या रजत शर्मा किसी विवाद में फंसे हैं?

    रजत शर्मा अपने पूरे करियर में कई विवादों में शामिल रहे हैं, जिसमें 2005 में एक राजनेता को अनुकूल कवरेज देने के लिए रिश्वत लेने के आरोप भी शामिल हैं। 2019 में, भारतीय आम चुनावों से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक साक्षात्कार आयोजित करने के लिए भी उनकी आलोचना की गई थी। कुछ ने उन पर सत्तारूढ़ दल के पक्षपाती होने का आरोप लगाया।

  9. रजत शर्मा की विरासत क्या है?

    रजत शर्मा अपनी निष्पक्ष रिपोर्टिंग, तीखे इंटरव्यू और सच्चाई के प्रति प्रतिबद्धता के लिए जाने जाते हैं। उनका शो “आप की अदालत” भारतीय टीवी पत्रकारिता पर एक बड़ा प्रभाव रहा है और इसी तरह के कई अन्य शो को प्रेरित किया है। वह भारत और दुनिया भर में युवा पत्रकारों और मीडिया पेशेवरों के लिए प्रेरणा बने हुए हैं।

  10. रजत शर्मा की शैक्षिक पृष्ठभूमि क्या है?

    रजत शर्मा ने दिल्ली विश्वविद्यालय के श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स (एसआरसीसी) से वाणिज्य में स्नातक की डिग्री पूरी की।

  11. रजत शर्मा ने पत्रकारिता में अपना करियर कैसे शुरू किया?

    रजत शर्मा ने कॉलेज में रहते हुए “ऑनलुकर” पत्रिका के लिए लिखकर पत्रकारिता में अपना करियर शुरू किया। अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद, उन्होंने द टाइम्स ऑफ इंडिया, संडे ऑब्जर्वर और इंडिया टुडे सहित कई प्रकाशनों के लिए एक पत्रकार के रूप में काम किया।

  12. आप की अदालत” का प्रारूप क्या है?

    “आप की अदालत” एक टॉक शो प्रारूप का अनुसरण करता है, जिसमें रजत शर्मा शो में एक हाई-प्रोफाइल अतिथि को आमंत्रित करते हैं और विभिन्न मुद्दों पर उनसे जिरह करते हैं। यह शो अपने कठिन सवालों और अक्सर विवादास्पद साक्षात्कारों के लिए जाना जाता है।

  13. रजत शर्मा की कुल संपत्ति कितनी है?

    2021 तक, रजत शर्मा की कुल संपत्ति लगभग $40 मिलियन अमरीकी डालर होने का अनुमान है।

  14. रजत शर्मा को कौन से पुरस्कार और सम्मान प्राप्त हुए हैं?

    रजत शर्मा को पत्रकारिता और मीडिया उद्योग में उनके योगदान के लिए कई पुरस्कार और सम्मान प्राप्त हुए हैं। इनमें पद्म भूषण, भारत का तीसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, और “आप की अदालत” के लिए सर्वश्रेष्ठ एंकर का समाचार टेलीविजन पुरस्कार शामिल है।

  15. क्या रजत शर्मा सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं?

    हां, रजत शर्मा सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं और ट्विटर और इंस्टाग्राम जैसे प्लेटफॉर्म पर उनके बड़े पैमाने पर फॉलोअर्स हैं। वह विभिन्न मुद्दों पर अपने विचार साझा करने और अपने दर्शकों के साथ जुड़ने के लिए इन प्लेटफार्मों का उपयोग करता है।

  16. रजत शर्मा फाउंडेशन क्या है?

    रजत शर्मा फाउंडेशन रजत शर्मा द्वारा स्थापित एक गैर-लाभकारी संगठन है जिसका उद्देश्य भारत में वंचित बच्चों को शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना है। फाउंडेशन महिला सशक्तिकरण का समर्थन करने और आपदा राहत और पुनर्वास प्रदान करने की दिशा में भी काम करता है।

  17. दिल्ली पुलिस फाउंडेशन में रजत शर्मा की क्या भूमिका है?

    रजत शर्मा दिल्ली पुलिस फाउंडेशन के अध्यक्ष हैं, जो एक गैर-लाभकारी संगठन है जो दिल्ली पुलिस को कानून व्यवस्था बनाए रखने और दिल्ली के लोगों को सुरक्षा प्रदान करने के उनके प्रयासों में सहायता करता है।

  18. क्या रजत शर्मा ने पत्रकारिता के अलावा किसी और क्षेत्र में काम किया है?

    पत्रकारिता के अलावा, रजत शर्मा ने कई राजनीतिक दलों और उम्मीदवारों के लिए मीडिया सलाहकार और रणनीतिकार के रूप में भी काम किया है। उन्होंने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन (IIMC) के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के सदस्य और न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन (NBA) के अध्यक्ष के रूप में भी काम किया है।

  19. क्या रजत शर्मा का काम के बाहर कोई शौक या रुचि है?

    रजत शर्मा को क्रिकेट के प्रति उत्साही के रूप में जाना जाता है और वह राजनीति और समसामयिक मामलों में भी रुचि रखते हैं। वह एक परोपकारी भी हैं और कई धर्मार्थ पहलों में सक्रिय रूप से शामिल हैं।

  20. रजत शर्मा का भारतीय पत्रकारिता में क्या योगदान है?

    रजत शर्मा को व्यापक रूप से भारत के सबसे प्रभावशाली पत्रकारों में से एक माना जाता है और उन्होंने पत्रकारिता के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उनका शो “आप की अदालत” भारतीय टीवी पत्रकारिता में अग्रणी रहा है और इसने जोरदार और निष्पक्ष रिपोर्टिंग के लिए नए मानक स्थापित किए हैं। उन्होंने कई युवा पत्रकारों का भी मार्गदर्शन किया है और भारत में मीडिया पेशेवरों की एक नई पीढ़ी को प्रेरित किया है।

  21. क्या रजत शर्मा कभी किसी विवाद में फंसे हैं?

    किसी भी सार्वजनिक हस्ती की तरह, रजत शर्मा वर्षों से कुछ विवादों में शामिल रहे हैं। उदाहरण के लिए, उन पर 2014 के आम चुनावों के कवरेज के दौरान सत्तारूढ़ दल के पक्ष में पक्षपात करने का आरोप लगाया गया था। हालांकि, उन्होंने हमेशा कहा है कि वह अपनी रिपोर्टिंग में पत्रकारिता की सत्यनिष्ठा और निष्पक्षता बनाए रखने का प्रयास करते हैं।

  22. क्या रजत शर्मा ने कोई किताब लिखी है?

    हां, रजत शर्मा ने दो किताबें लिखी हैं: “आप के लिए” और “कुछ कुछ, कुछ अनकही।”

  23. क्या रजत शर्मा शादीशुदा हैं?

    जी हां, रजत शर्मा ने रितु धवन से शादी की है, जो इंडिया टीवी की फाउंडर और सीईओ हैं। दंपति का एक बेटा है जिसका नाम शिवम शर्मा है।

  24. आकांक्षी पत्रकारों को रजत शर्मा की क्या सलाह है?

    रजत शर्मा ने अक्सर पत्रकारिता की अखंडता के महत्व और युवा पत्रकारों को अपनी रिपोर्टिंग में निष्पक्ष और निडर होने की आवश्यकता के बारे में बात की है। वह युवा पत्रकारों को मीडिया के क्षेत्र में नवीनतम रुझानों और तकनीकों के साथ बने रहने और अपने कौशल और ज्ञान को बेहतर बनाने के लिए लगातार प्रयास करने की भी सलाह देते हैं।

  25. भारतीय पत्रकारिता के भविष्य के लिए रजत शर्मा का विजन क्या है?

    रजत शर्मा का मानना है कि भारतीय पत्रकारिता का भविष्य उज्ज्वल है और नई प्रौद्योगिकियां और मंच इस क्षेत्र में क्रांति लाते रहेंगे। हालांकि, उन्होंने पत्रकारों को उच्च नैतिक मानकों को बनाए रखने और विपरीत परिस्थितियों में भी सच्चाई के लिए प्रतिबद्ध होने की आवश्यकता पर बल दिया। वह लगातार विकसित हो रहे उद्योग में आगे रहने के लिए मीडिया संगठनों को अपने कर्मचारियों के लिए प्रशिक्षण और विकास कार्यक्रमों में निवेश करने की आवश्यकता पर भी जोर देता है।

यह भी पढ़ें ↓

Latest Post

IQ Boost