क्या आप जानते है ? अंतिम संस्कार के समय व्यक्ति के सिर पर लकड़ी का डंडा क्यों मारा जाता है?

Date :- 4 weeks ago

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on pinterest
Share on telegram
अंतिम संस्कार के समय व्यक्ति के सिर पर लकड़ी का डंडा क्यों मारा जाता है

आप सब यह जानते ही है की हिंदू धर्म में अंतिम संस्कार के समय मृतक के सर को डंडे से मार कर फोड़ दिया जाता है। इसके तिन कारण हैं-

1- तंत्र मंत्र करने वाले श्मशान घाट से मृतक की खोपड़ी लेकर अपनी साधना कर सकते हैं। इस वजह से मृत व्यक्ति की आत्मा उन अघोरियों या पिशाच पूजन करने वाले की गुलाम बन सकती है इसलिए खोपड़ी को तोड़ कर तहश नहश कर देते हैं।

2- कुछ लोगों का कहना है कि इस जन्म की स्मृति अगले जन्म में मृतात्मा के साथ ना जाए इसलिए खोपड़ी तोड़ दी जाती है।

3- खोपड़ी का प्रयोग आत्माओं को अपना गुलाम बनाने वाले करते हैं इनसे बचाव के लिए यह संस्कार किया जाता है।

अक्सर आपने देखा होगा कि अंतिम संस्कार के दौरान एक महत्वपूर्ण क्रिया की जाती है, जिसे कपाल क्रिया के नाम से जाना जाता है। बिना कपाल क्रिया के किसी भी व्यक्ति का अंतिम संस्कार पूर्ण नहीं माना जाता है। इस क्रिया को करना और देखना दोनो ही बहुत दुखदायी होता है। 

Also check

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़ें ↓

Latest Post

State By Services